राम रहीम के बाद अब राधे मां पर गिरेगी गाज… हाईकोर्ट ने दिये FIR के आदेश

2 साध्वियों से रेप के आरोप में 20 साल के लिए जेल में बंद राम रहीम के बाद अब खुद को दुर्गा का रूप का बताने वाली राधे मां पर गाज गिरने वाली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पंजाब में 15 साल पुराने के मामले में पुलिस का सहयोग न करने पर पंजाब हाईकोर्ट में दाखिल एक याचिका पर राधे मां के ख़िलाफ़ FIR के आदेश दिए गए हैं।

दरअसल, हाईकोर्ट ने पंजाब पुलिस को यह निर्देश फगवाड़ा के रहने वाले सुरिंदर मित्तल की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। ख़ुद को देवी का अवतार बताने वाली राधा मां को दो साल पहले पंजाब पुलिस ने पूछताछ के लिए समन भेजा था  क्योंकि, सुरिंदर ने अगस्त 2015 में पंजाब पुलिस से राधे मां के ख़िलाफ़ शिकायत की थी।

खुद को देवी कहने वाली राधे मां ने तकरीबन 15 साल पहले पंजाब के फगवाड़ा में एक जागरण किया था। इस दौरान राधे मां का विरोध शुरू हो गया। यह प्रदर्शन करीब तीन घंटे बाद राधे मां के माफी मांगने से खत्म हुआ था। इस विरोध प्रदर्शन की अगुवाई सुरिंदर मित्तल ने ही की थी। सुरिंदर मित्तल का आरोप है कि उनके फोन पर राधे मां लगातार उन्हें परेशान करने वाले वॉट्सअप मैसेज और कॉल्स करती रही हैं। शिकायत में राधे मां समेत 5 लोगों पर आरोप हैं। फगवाड़ा पुलिस इस मामले में सुरिंदर मित्तल के बयान दर्ज कर चुकी है।

सुरिंदर फोन की रिकॉर्डिंग भी पंजाब पुलिस को दे चुके हैं। दूसरी तरफ राधे मां ने एक बार भी पुलिस जांच में सहयोग नहीं किया। जिसके चलते सुरेंद्र मित्तल ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की। हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए पंजाब की फगवाड़ा पुलिस को राधे मां के विरूद्ध मामला दर्ज करने के निर्देश जारी किए हैं।

राधे मां उर्फ सुखविंदर कौर का जन्म पंजाब के गुरदासपुर जिले के एक सिख परिवार में हुआ था. इनकी शादी पंजाब के ही रहने वाले व्यापारी सरदार मोहन सिंह से हुई है।शादी के बाद एक महंत से राधे मां की मुलाकात हुई जिसके बाद से ही उन्होंने आध्यात्मिक जीवन अपनाया.  इसके बाद वह मुंबई आ गई और वो राधे मां के नाम से मशहूर हो गई।

Team GI

Team GI is a group of committed individuals with National Interest in mind.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *