एक ही दिन रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति चुनाव जीते ..तो, दूसरी दलित नेता मायावती राज्यसभा से बाहर हुईं

भारत गणराज्य के लिये ऐतिहासिक था 20 जुलाई का ये दिन जब एक दलित भारत के प्रथम नागरिक के चुनाव जीतने का गौरव पा रहा था … तो, वहीं दलित नेता और BSP अध्यक्ष मायावती लोकतंत्र के मंदिर से बाहर हो रही ं थी। इधर रिटर्निंग ऑफिसर अनूप मिश्रा एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत का ऐलान कर रहे थे। तो, उधर राज्यसभा से BSP उम्मीदवार मायावती का राज्यसभा के सभापति को दोबारा दिया गया इस्तीफ़ा मंजूर हो गया।

PM मोदी ने रामनाथ कोविंद को घर जाकर जीत की बधाई दी

रामनाथ कोविंद ख़ुद दलित समुदाय से आते हैं और उन्होंने अपनी प्रतिद्वंदी कांग्रेस उम्मीदवार दलित मीरा कुमार को हराकर राष्ट्रपति चुनाव जीता है। यानि, एक दलित नेता ने दूसरे दलित नेता को हराया है। ये बात इसलिये क्योंकि, कांग्रेस और खुद मीरा कुमार ने अपने राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान अपनी जाति को भुनाने की भरसक कोशिश की। लेकिन, जीत बीजेपी को ही मिली।

PM 1

रामनाथ कोविंद ने ने राष्ट्रपति चुनाव में कुल 10,90,300 में से 7,02,044 मत प्राप्त किए. वहीं उनकी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार मीरा कुमार को 3,67,314 मिले. इस हिसाब से निर्वाचित उम्मीदवार को 65.65 प्रतिशत मत मिले।

PM 2

इस तरह 20 जुलाई का दिन पूरी तरह दलित सियासत के इर्द-गिर्द घूमता रहा। टीवी चैनलों पर भी बीजेपी के दलित बनाम कांग्रेस के दलित पर बहस होती रही, जबकि दूसरी दलित नेता बीएसपी अध्यक्ष मायावती राज्यसभा की सदस्यता से बाहर हो गईं। दलित सियासत में ये एक नये दलित विमर्श की शुरुआत है।

 

राज्यसभा में बहस के दौरान मायावती

लोकसभा और विधानसभा में मायावती की हार का सबसे बड़ा कारण उनके दलित वोट बैंक के BJP में जाने का रहा है, ऐसे में दलित राष्ट्रपति बनने का साथ ही मायावती के वोट बैंक पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है, इसीलिये राज्यसभा में मायावती ने नौ महीने के कार्यकाल बचे रहने के बावजूद इस्तीफ़ा दे दिया। जिससे कि वो बीजेपी के ख़िलाफ़ अपनी नयी रणनीति तैयार कर सकें। क्योंकि, मायावती का कार्यकाल पूरा होने के बाद बीएसपी उनको राज्यसभा में भेजने के काब़िल नहीं है।

 

 

 

Team GI

Team GI is a group of committed individuals with National Interest in mind.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *