PM मोदी ने दिखाया 56 इंच का सीना… भड़के चीन ने दी भारत को घुड़की !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ़्ते पूर्वोत्तर को एक सूत्र में जोड़ने के लिए असम-अरुणाचल को आपस में जोड़ने वाले ‘महापुल’ का उद्घाटन क्या किया ..कि, साम्राज्यवादी चीन को भारत से ख़तरा महसूस होने लगा है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक अरुणाचल में आधारभूत ढांचे को मजबूत करने में जुटी मोदी सरकार से परेशान चीन ने भारत को चेतावनी जारी की है.. जिसके मुताबिक भारत को अरुणाचल में इंस्फ्राट्रक्चर को मजबूत करने में तेजी ना दिखाकर सावधानी और धैर्य का परिचय देना चाहिए।

मोदी

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक चीन ने भारत से कहा है कि उसे उम्मीद है कि सीमा विवाद के अंतिम समाधान से पहले भारत सावधान और संयमी रुख अपनाएगा।’ साथ ही.. भारत सीमा के पूर्वी हिस्से को लेकर चीन की स्थिति लंबे समय से स्पष्ट है।

बता दें कि.. पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रह्मपुत्र नदी पर बने भारत के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया था। भूपेन हजारिका के नाम पर रखा गया यह 9.15 किलोमीटर लंबा पुल असम के पूर्वी हिस्से को अरुणाचल प्रदेश से जोड़ता है, जिसे चीन विवादित क्षेत्र मानता है और दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताता है।

भूपेन हजारिका पुल की वज़ह से असम-अरुणाचल के बीच 165 किलोमीटर की दूरी कम हुई है, जिससे यात्ना में लगने वाला समय भी 5 घंटे कम हो गया है। साथ ही, सामरिक लिहाज़ से भी इस पुल का ख़ास महत्व है …क्योंकि, भारतीय सेना इस पुल के जरिए जरुरत पड़ने पर अरुणाचल में बड़े सैन्य वाहनों की खेप की आपूर्ति कर सकता है।

बता दें कि.. 1962 के युद्ध के बाद चीन की सेना अरुणाचल प्रदेश में घुस आई थी.. जिसके बाद से ही दोनों देशों के बीच तल्ख़ी के रिश्ते रहे हैं।

Saurabh Singh

Saurabh is a tech entrepeneur based in Noida. He tweets from @SaurabhSingh.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *